Unknown Facts About Ravana

          Unknown Facts About Ravana



नमस्कार दोस्तों आज की वीडियो में हम बात करने वाले है रावण के ऊपर। दोस्तों हम सब यह सोचते है की रावण एक बुराई के प्रतिक है इसीलिए हम उन्हें हर साल दशहरा में जलाते है। पर आज की वीडियो में आप रावण के कुछ ऐसे गुणो के बारे में जानोगे जो आपके रावण के प्रति सोच को पूरी तरह बदल के रख देंगे। तो चलिए सुरु करते है। 

Unknown Facts About Ravana


1. रावण सबसे बुद्धिमान : दोस्तों रावण विद्वानों के विद्वान थे। वे वेदो के ज्ञाता थे तथा ज्योतिष में विशेषज्ञ ठये इस बात का पता इस बात से ही लगाया जा सकता है।  इसका अंदाज़ा इसी बात वसे लगाया जा सकता है की जब रावण मरने वाले तोह भगवान राम ने लक्ष्मण को रावण से कुछ ज्ञान प्राप्त करने के लिए आग्राह किया। उन्हें रावण से तीन चीज सिखने के मिले :
(i) पहला आपने शत्रु को कभी भी काम मत समझो यह तुम्हे दुसरो को नुकसान पहुंचने से बचाएगा। जैसा की रावण ने हनुमान को काम समझा था नतीजा हनुमान जी ने पूरी की पूरी लंका जला दी। 

(ii) दूसरा कभी बुरे काम मत करो तथा कभी भी अच्छे कर्म करने में देरी न करो। 

(iii) तीसरा दुनिया में कभी भी किसी के लिए भी आपने रहस्य उजागर न करे। जैसा की विभीषण ने किय था घर का बेदी लंका ढाये। 

2. रावण के एक महान राजा होना : दोस्तों वाल्मीकि की महाभारत के अनुसार रावण एक शाशक राजा था तथा रावण एक महान राजा था और उन्ही के शाशन में लंका को सोने की लंका कहा जाता था। जो की इतिहास में लंका का सबसे प्रसिद नाम था। यहाँ तक की वह आपने प्रजा की बहुत अच्छे तरीके से देखभाल भी करते थे और सभी की मदद भी किया करते  थे। 

3.रावण एक सज्जन : रावण जब राम से युद्ध कर रहे थे तब भी सीता उनकी हिरासत में थी। जब वो आपने परिवार के एक-एक सदस्य को रहे थे तब भी सीता उनके हिरासत में थी तब भी उन्होंने सीता माता को कोई भी नुकसान नहीं पहुंचाया जो की कोई भी दानव वर्ग कभी नहीं करता। यहाँ तक की भारत में ऐसे कई सरे राज्य ऐसे है जहाँ आज भी रावण की पूजा होती है यहाँ तक वहाँ 'dusshera' नहीं मनाया जाता। 


4. सीता अपहरण : दोस्तों हम सभी यह जानते है की रावण के द्वारा सीता जी का अपहरण हुआ था। पर इसके पीछे भी एक भोत बड़ा रहस्य है। एक सत्य नमक ऋषि द्वारा उनको यह कहा गया था की राक्षस वर्ग का मोक्ष तभी हो सकता है जब वो हरी के द्वारा मृत्यु प्राप्त करेंगे इसी के चलते रावण ने सीता का हरण किया और आपने साथ साथ अपनी पूरी प्रजा को मोक्ष के पथ पर ले गए।  

अंततः हमे यह पता चलता है की रावण एक खलनायक नहीं बल्कि एक छुपे हुए नायक के रूप में हमारे सामने उभर के आते है। 

अगर आपको यह article अच्छा लगा तोह आप इसे जरूर अपने दोस्तों के साथ शेयर करना और इसी तरह के और article पढ़ने के लिए आप हमारे साथ जुड़ सकते है आपका ईमेल "EMAIL SUBSCRIPTION" बॉक्स में डाल दे जिससे हमारे कोई भी नए article की सुचना आपको मिलती रहे। 


धन्यवाद 


No comments:

Post a comment

Home Contact us
About us

                                                  

INSTAGRAM FEED

@rajeshkuketi